आयोग की शक्तियाँ

 

शिकायत की जाँच-पड़ताल करने में आयोग को सिविल प्रक्रिया संहिता, 1908 के अधीन वाद के विचारण से संबंधित सिविल न्यायालय की सारी शक्तियाँ निहित होंगी. विशेष रूप से शक्तियाँ निम्नलिखित होंगी -

(क) गवाहों को सम्मन करना, उनकी उपस्थिति को बाध्य (enforce) करना एवं शपथ पर उनका परीक्षण करना.
(ख) किसी दस्तावेज की खोज और उपलब्ध कराना.
(ग) शपथ पत्र साक्ष्य लेना.
(घ) किसी न्यायालय या कार्यालय से कोई सार्वजनिक अभिलेख अथवा उसकी प्रतिलिपि मांगना.
(ड़) साक्षों या दस्तावेजों के परीक्षण के लिए कमीशन बहाल करना.